Monday, 2 July 2012

Welocme to Manendragarh

         मनेन्द्रगढ़ एक छोटा और शांत शहर है, जो कि भारत के छत्तीसगढ़ राज्य के कोरिया जिले में है। जो कि छत्तीसगढ़ और मध्यप्रदेश की सीमा से लगा हुआ है.

         2001 की भारतीय जनसंख्या जनगणना  के अनुसार मनेन्द्रगढ़ की जनसँख्या 60,755 है। जिसमे से पुरुषो की संख्या 53% और महिलाओ की संख्या 47% है। मनेन्द्रगढ़ की साक्षरता 72% है. जो कि राष्ट्रीय औसत साक्षरता के अनुसार 59.5% है। जिसमे पुरुषो की साक्षरता 79% और महिलाओ की साक्षरता 64% है। मनेन्द्रगढ़ एक नगर पालिका मगर ग्रामीण प्रधान क्षेत्र है.


         मनेन्द्रगढ़ एक कोल माइंस एरिया है, जिसके क्षेत्र में उच्च ग्रेड के कोयले का विशाल भंडार है। यहाँ कोयले की मुख्य भंडार हसदो बेसिन में है। साथ ही चूना पत्थर, फायर क्ले और लाल आक्साइड का भी भंडार है। मनेन्द्रगढ़ क्षेत्र के अंतर्गत राजनगर, खोंगापानी, झीमर और हसदेव कोल्ड फील्ड्स आते हैं. जो कि कोयले का खनन क्षेत्र है। साथ ही मनेन्द्रगढ़ क्षेत्र में जंगलो की विशाल रेंज है। 19वी  सदी के अंतिम दशक में मनेन्द्रगढ़ क्षेत्र में गाँवो के साथ-साथ बिंदिवार वनों का एक विशाल खिंचाव था. जहाँ वन बहुत ही घने और वृक्ष बहुत ही मोटे थे. वन और कोयले इस क्षेत्र की अर्थव्यवस्था में बहुत भूमिका निभाते हैं। साल, महुआ, तेंदू, पलास, चार, बीजा, हर्रा, बहेरा, शीशम, कुसुम, सालिया, खैर, अरुण, गमहर और बांस यहाँ के प्रमुख वृक्ष वन है। जिसे 12 सितम्बर 2003 को सरकारी अमानत घोषित कर दिया गया था. मनेन्द्रगढ़ क्षेत्र के चन्दन के पेड़ यहाँ के मुख्य आकर्षण के केंद्र है। मनेन्द्रगढ़ क्षेत्र के चन्दन के पेड़ उच्च गुणवत्ता रखते हैं।

मनेन्द्रगढ़ क्षेत्र में हसदो नदी इस क्षेत्र की प्रमुख नदी है। यह पूर्वी 82 डिग्री उत्तर 23 डिग्री से सोनहत से इसका उद्गम है। कोरिया जिले में यह 95 किमी बहती है, और साथ ही इस प्रकार के घुमाव में है जो बेशक S जैसा दिखता है। 72 किमी आगे जाने के बाद यह 23 डिग्री उत्तर में बिलासपुर में प्रवेश करती है। उसके बाद अहिरन की गेज नदी और चेरनाई नदी का पानी लेते हुए संकीर्ण घाटियों से होते हुए महानदी में मिल जाती है। अपने इस पुरे सफ़र में हसदेव नदी सोनहत, मनेन्द्रगढ़, घुगरा, कोरबा और चांपा की धरती को सींचती हुई आगे बढ़ जाती है। 

                मनेन्द्रगढ़ से यातायात के लिए बस और रेल की सुविधा सबसे अच्छा साधन है. मनेन्द्रगढ़ से सबसे नजदीक का जंक्शन स्टेशन अनुपपुर है। जो मनेन्द्रगढ़ के साथ ही बिलासपुर जोनल के अंतर्गत आता है। मनेन्द्रगढ़ और अंबिकापुर से जितनी भी गाडिया चलती है सभी अनुपपुर से हो कर ही जाती है, जहाँ से लगभग भारत के सभी क्षेत्रो के लिए गाडी मिल जाती है. मनेन्द्रगढ़ से सबसे नजदीक का राष्ट्रीय हवाई अड्डा रायपुर है। जो की मनेन्द्रगढ़ से लगभग 371 किमी पड़ता है.

0 comments:

Post a Comment